Hanuman Chalisa mp3 Download

जय श्री हनुमान चालीसा (Jai Hanuman Chalisa)

हनुमान जी भगवन शिव का अवतार (रुद्रावतार) मने जाते हैं | परम राम भक्त हनुमान, जोकि पवनपुत्र हैं वह सहस और पराक्रम के प्रतीक हैं | श्री हनुमान को कई नामो से संबोधित किया जाता है - बजरंग बली, अंजनिपुत्र, पवनपुत्र, मारुती नंदन, केसरी नंदन आदि |हनुमान चालीसा एक हिंदू भक्ति भजन (स्तोत्र) है जो की भगवान हनुमान को संबोधित किया है जिसमे 40 चौपाई हनुमान जी को समर्पित की गई हैं । परंपरागत रूप से माना जाता है कि हनुमान चालीसा को कवि तुलसीदास द्वारा 16 वीं सदी में अवधी भाषा में लिखा गया था, और यह रामचरितमानस के साथ उनका दूसरा सबसे अच्छा ज्ञात लेख मन जाता है। शब्द "चालीसा" "चालीस", जो हिंदी में नंबर चालीस का मतलब है, के रूप में हनुमान चालीसा 40 छंद (शुरुआत में और अंत में दोहे को छोड़कर) है से ली गई है। हनुमान चालीसा एक भक्ति भगवान हनुमान को समर्पित भजन है। हनुमान चालीसा को पढ़ने से ऊर्जा और एकाग्रता प्राप्त होती है क्योंकि हनुमान नाम ही अपार ऊर्जा और ध्यान का स्रोत है। हनुमान चालीसा एक सबसे मशहूर भजन है जो की पूरे विश्व भर में हिन्दुओ द्वारा पढ़ी जाती है |

Latest Hanuman Chalisa

Hanuman Chalisa MP3 Free Download Songs

+

Hanuman Chalisa mp3 Download Gulshan Kumar

+

Amitabh Bachchan Hanuman Chalisa mp3 Download

+

Hanuman Chalisa By Lata Mangeshkar

+

Hanuman Chalisa mp3 Download Udit Narayan

+

Hanuman Chalisa mp3 Download Shekhar Ravjiani

+

Hanuman Chalisa Telugu mp3 free download MS Rama Rao

+

Hanuman Chalisa By M.S. Subbulakshmi

+

Lord Hanuman Chalisa in Kannada Full By S P Balasubrahmanyam

हनुमान जी के अन्य नाम

हनुमान जी को कई अन्य नामो से भी जाना जाता था जैसे की-

  • आंजनेय ,अंजनि पुत्र, अंजनेयर (तमिल भाषा में), अंजनेयुडु (तेलुगु भाषा में), अंजनीसुत न सभी का अर्थ हैं अंजनी के पुत्र |
    केसरी नंदन (“केसरी के पुत्र”)
  • मारुति नंदन, पवन पुत्र, वातात्मज, “वायु देव के पुत्र”– ऐसा माना जाता है की वायु देव ने ही हनुमान जी को अंजनी की कोख में पहुँचाया था|
  • बजरंग बली- ” जिसमें बलि का अर्थ है ताकत अंग का अर्थ है अंग व बज्र यानी की वज्र अर्थात वो जिसके अंगो में वज्र की ताकत हो |
  • मनोजवं– वह जो की बुद्धि समक्ष तीव्र है, ऐसा (राम रक्षा स्तोत्र) में दर्शाया गया है |
  • मारुततुल्यवेगम– वह जिसमे वायु देव के समक्ष गति हो, ऐसा (राम रक्षा स्तोत्र) में दर्शाया गया है |
  • जितेन्द्रियं– वह जिसको अपने विवेक व बुद्धि पर पूरा नियंत्रण हो, ऐसा (राम रक्षा स्तोत्र) में दर्शाया गया है|
  • बुद्धिमतांवरिष्ठं– वह जो सभी बुद्धिजीवियों में उच्च हो |
  • वानरयूथमुख्यम– वानर सेना का प्रमुख, (राम रक्षा स्तोत्र) | वानराणामधीशं का भी यही तात्पर्य है |
  • श्रीरामदूतं– श्री राम के दूत (राम रक्षा स्तोत्र)|
  • अतुलित बल धामं– वह जो अतुलनीय शक्ति का भंडार है |
  • हेमशैलाभ देहम– जिसका शरीर सुनहरे पहाड़ जैसा दिखता हो|
  • दनुजवन कृष्णम– वह जो राक्षसों का नाश करता हो |
  • ज्ञानिनां अग्रगंयं– वह जो सब प्राणियों के बीच सबसे महत्वपूर्ण जानकार हो |
  • सकल गुना निधानं- वह जो सभी अच्छे गुणों का भंडार है |
  • रघुपति प्रिय भक्तं– वह जो प्रभु श्री राम के सबसे बड़े भक्त हैं |
  • संकट मोचन– संकट को हरने वाले |

हनुमान जी के बारे में जानकारी

हनुमान जी एक वानर थे, जो की प्रभु श्री राम के परम भक्त थे | कई लोक कथाओं में हनुमान जी की शक्तियों की प्रशंसा की गई है | हनुमान जी को उनकी शक्ति, साहस, ज्ञान, ब्रह्मचर्य, राम के लिए उनकी भक्ति के लिए जाना जाता था – हनुमान चालीसा में विस्तृत सस्वर पाठ या हनुमान चालीसा का जप एक आम धार्मिक प्रथा है। हनुमान जी भगवान शिव के अवतार थे और वे शक्ति, भक्ति, और दृढ़ता को दर्शाते हैं । हनुमान जी को भगवान श्री राम का परम भक्त माना जाता है। उनकी माता का नाम अंजनी का था यही कारण है कि उन्हें ‘अंजनी पुत्र’ नाम से भी जाना जाता था। उनको ‘चिरंजीवी’ भी कहा जाता है जिसका अर्थ है अमर । इसी तरह उनके कई अन्य नाम है, जैसे की मारुति व पवनपुत्र आदि | हनुमान जी को शक्ति का एक चेहरा माना जाता है और वह हमेशा कठिन समय में अपने भक्तों की रक्षा करते है।

हनुमान जी के बारे में कुछ अनसुनी जानकारी

हनुमान जी श्री राम के परम भक्त थे यह तो जग जाहिर है किन्तु हनुमान जी के जीवन के कुछ अनसुने पहलु कुछ इस प्रकार हैं:

  • भगवान हनुमान केसरी और अंजना के पुत्र थे और उनका नाम पवनपुत्र इसलिए रखा गया क्योंकि पवन देव ने उनके जन्म में एक भूमिका निभाई थी |
  • प्रभु श्री हनुमान को भगवान ब्रह्मा के द्वारा वरदान दिए गए थे जिसमे शामिल था अपना आकार कभी भी और कहीं भी बड़ा या छोटा करना, हथियारों का असर न होना, अमरता, हवा में उड़कर कही पर भी जा सकने की शक्ति|
  • उन्होंने श्री राम को यह वचन दिया था की जब तक पृथ्वी पर श्री राम नाम जप जाएगा तब तक हनुमान पृथ्वी पर गुप्त तरीके से रहेंगे सबकी नज़रो से दूर |
  • हनुमान जी ने एक बार सीता जी की दी हुई मोतियों की माला पहनने से मना कर दिया था, जब माता सीता ने उनसे इसकी वजह पूछी तब हनुमान जी ने कहा जी चीज़ में उनके प्रभु श्री राम का नाम न हो वह उनके किसी काम की नही, माता को अपनी बात का विश्वास दिलाने के लिए हनुमान जी ने अपना सीन चीयर के उन्हें दिखाया जिसमे श्री राम और सीता की छवि दिखी |

हनुमान जी के बारे में जानकारी

हनुमान चालीसा को पढ़ने की विधि

यह कहा जाता है कि अगर आप हनुमान चालीसा दैनिक पढ़ें तो आपके सभी दु: ख और दर्द हनुमान जी की कृपा से दूर हो जाएंगे। चालीसा को पढ़ने के लिए एक उचित विधि व समय होता है | ऐसा कहा जाता है की हनुमान चालीसा पढ़ने का सबसे उत्तम समय सुबह व रात को होता है | रात को सोने से पहले चालीसा को पढ़ कर सोने से इंसान में चमत्कारिक असर होता है | चालीसा को हमेशा नहाने के बाद ही पढ़ना चाहिए | जैसे ही आप इसे पढ़ना शुरू करेंगे आपको अपने अंदर ऊर्जा व सकरात्मक शक्ति महसूस होने लगेगी | यह कहा गया है कि भगवान हनुमान ने शनिदेव जी की मदद की थी उन्हें श्रीलंका से मुक्त करवाने में| इसलिए कहा जाता है अगर किसी पर शनि देव की कुदृष्टि हो तो उसको शनिवार को संध्या के समय 8 बार हनुमान चालीसा का जाप करना चाहिए |

हनुमान चालीसा को उचित ढंग से पढ़ी जानी चाहिए और पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए। यह कहा जाता है हनुमान चालीसा पढ़ने का उचित तरीका है कि हनुमान चालीसा के पूरा होने के बाद, ‘ओम’ का 108 बार पाठ किया जाना चाहिए है।

Hanuman Chalisa in English

It is believed that in the Kaliyuga the only living god is Hanuman. He’s always kind to his devotees and worshipers and fulfills their every desire. By the grace of Lord Hanuman, Goswami Tulsidas met Lord Rama. It is said that wherever the word Rama is said, Hanuman is there in every form. Seeing the nature and the glory of Hanuman, Tulsidas wrote the Hanuman Chalisa. Hanuman Ji is an absolute devotee of Rama.

Benefits of Reciting Hanuman Chalisa

  • Reading Hanuman Chalisa throw away evil spirits: Hanuman was extremely powerful, and he was not afraid of anyone. Lord Hanuman is considered as a savior of his devotees and he destroys all the evil spirits to assure his devotee’s safety. Those who have fear at night or scary thoughts come to their mind, they should recite Hanuman Chalisa daily
  • It reduces the effect of Saadhe Saati: Reading Hanuman Chalisa you can minimize the effect of Saadhe Saati because according to stories Hanuman Ji once saved Shani Dev’s life from Sri Lanka because of which Shani Dev became happy and said that he will never hurt any Hanuman devotee.
  • Brings Freedom from Sins: We all have done mistakes sins and sins in our lives. It is said that if Hanuman Chalisa is recited every day and 8 times on Saturday then it helps in removing all the sins.
  • Reading Chalisa brings Positivity and confidence: Hanuman Chalisa not only brings peace but it also works as a confidence booster and it also bring positivity in life it’s recited daily.]

What you searched for:-

  • Hanuman Chalisa free download
  • hanuman chalisa audio download
  • hanuman chalisa video
  • हनुमान चालीसा ऑडियो